News

हैदराबाद शहर पर औरतों का राज,,,

हैदराबाद शहर पर औरतों का राज,,,मेयर और डिप्टी मेयर के पद पे मारी बाज़ी, तेलंगाना राष्ट्र समिति की ओर से दोनों पद के लिए उम्मीदवारों ने सपषट बहुमत से जीत हासिल की यों तो हर पार्टी औरतों को सियासत में भागीदारी की बात करती है परन्तु ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है,इतने बङे बल्दिया के दोनों पदों पर महिलाओं को बैठा गया हो,बीजेपी की नफरत की राजनीति के दबाव के वजह कर ऐसा पहली बार हुआ है कि हैदराबाद के परंपरा को तोड़ते हुए अल्पसंख्यक समाज(मुसलमान) को कोई नुमाइंदगी नहीं दी गयी है। नहीं तो हसबे रवायत हमेशा दोनों में से एक पद पर तो मुसलिम समाज की नुमाइंदगी रहती थी। वर्तमान कुछभी रहे परन्तु इस शहर का इतिहास मुसलमान और निज़ाम के बिना अधूरा है। परन्तु बीजेपी की नफरत की राजनीति का असर इस जीएचएमसी चुनाव के समय से ही देखा जा रहा था।शायद सीएम के•सी•आर साहब इस नफरत की राजनीति के दबाव के आगे झुकते दिखाई दे रहे हैं। हकीकत चाहे कुछ भी हो पर ज़ाहरी तौर पर तो यही दिखाई दे रहा, अब देखना मेयर श्रीमति विजय लक्ष्मी और उपमहापौर (डिप्टी मेयर)की जोङी शहर हैदराबाद के लोगो के उम्मीदों पर कितना खरी उतरती है कयोंकि हाल ही में आए तूफानी बारिश से जो बर्बादी हुई है उसकी भरपाई करना काफी कठिन काम है। दूसरी तरफ केसीआर द्वारा सैलाब पीङित परिवारों को 10,000 रूपया देने के वादे पर अबतक ठीक ढंग से अमल नहीं हुआ है। दूसरी तरफ केटीआर•साहब का हैदराबाद शहर को एक वरलड क्लास शहर बनाने के सपने को पूरा करने की चुनौती भी है। बहरहाल कुछ भी हो अब ये तो भविष्य ही बतायेगा की आगे क्या होता है।

Comment here